[ad_1]

1. राजनयिक विमर्श में “इंडो-पैसिफिक” क्षेत्र के सन्दर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. भारत में “इंडो-पैसिफिक” क्षेत्र का विचार पहली बार 2007 में भारतीय संसद में एक भाषण में जापानी प्रधानमंत्री शिंजो अबे द्वारा प्रस्तावित किया गया था।
  2. उस समय भारत के राजनयिक विमर्श में इस विचार को हाथों-हाथ लिया गया।

उपर्युक्त दिए गए कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

 
 
 
 

2. हाल में चर्चा में रहे “रिंग ऑफ फायर” के संदर्भ में क्या सही है/हैं?

 
 
 
 

3. चर्चा में रहे “ज़ोमिया” क्षेत्र के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. अकादमिक दृष्टि से यह ऐसा क्षेत्र है जहां पूर्वोत्तर भारत, दक्षिण पश्चिम चीन और दक्षिण पूर्व एशिया की ऊंची भूमि मिलती है।
  2. ऐसा क्षेत्र है जहां केंद्रीकृत राज्य नियंत्रण परंपरागत रूप से कमजोर रहा है और यह अल्पसंख्यक आबादी से भरा है।

उपर्युक्त दिए गए कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

 
 
 
 

4. हाल ही में भारतीय प्रबंधन संस्थान, अहमदाबाद के शिक्षाविदों के एक अध्ययन रिपोर्ट प्रकाशित की है, जो भारत के 2047 तक विकसित भारत बनने के लक्ष्य के दौरान ऊर्जा संचरण पर केंद्रित है। इस रिपोर्ट के प्रमुख निष्कर्षों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:

  1. 2070 तक नेट-शून्य हासिल करने के लिए परमाणु ऊर्जा एक ‘जादू की छड़ी’ के समान है।
  2. 2070 तक पर्याप्त परमाणु ऊर्जा और नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन के बिना नेट-शून्य संभव नहीं है।

उपर्युक्त दिए गए कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

 
 
 
 

5. हाल ही में ताइवान में 25 वर्षों सबसे तीव्र भूकंप आया है। ताइवान अक्सर भूकंपों का सामना करता रहता है। ताइवान में अक्सर भूकंप आने का/के क्या कारण रहा/ रहे है/हैं?

 
 
 
 

 Loading …
6 + 0 ?

Loading

var exam_id=0;
var question_ids=””;
var watuURL=”;
jQuery(function($){
question_ids = “8336,8337,8338,8339,8340”;
exam_id = 1381;
Watu.exam_id = exam_id;
Watu.qArr = question_ids.split(‘,’);
Watu.post_id = 58679;
Watu.singlePage=”1″;
Watu.hAppID = “0.70642500 1712573084”;
watuURL = “https://vajiraoias.com/wp-admin/admin-ajax.php”;
Watu.noAlertUnanswered = 0;
});

The post 04-04-2024 MCQs GS Test Hindi appeared first on Vajirao IAS.

[ad_2]

Source link

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *